महिला प्रधानमंत्री

06 Sep 2022   87 Views

- संजय दुबे -
इस दुनियां में अनुपातिक रूप से 51.42 और 49.58 प्रतिशत आबादी के रूप में पुरूष और महिला मौजूद है लेकिन देश के नेतृत्व के बारे में बात करे तो महिलाये अभी भी बहुत पीछे है। दुनियां के 195 देश जिनमे 128 देशों में प्रधानमंत्री सत्ता के शीर्ष पर है उनमें से 78 देशों में आजतक कोई महिला प्रधानमंत्री नही बन सकी है। केवल 50 देशों जिनमे 20 बड़े देश है उनमें महिला प्रधानमंत्री बनी है।
यूनाइटेड किंगडम के नए प्रधानमंत्री के रूप में 47 वर्षीय लीज ट्रस की ताजपोशी आज होने जा रही है। वे यूनाइटेड किंगडम की तीसरी महिला प्रधानमंत्री बनने जा रही है। उनसे पहले मारग्रेट थैचर( 1979-90) थेरेसा मे(2016-19) महिला के रूप यूनाइटेड किंगडम की प्रधाममंत्री बन चुकी है।
दुनियां में अधिकृत रूप से प्रधानमंत्री शब्द 1905 में oorder of presedence के माध्यम से यूनाइटेड किंगडम में आया था। इसके 55 साल बाद श्रीलंका में दुनियां की पहली महिला प्रधानमंत्री बनी।श्रीमाओ भंडारनायके का नाम को अजर अमर माना जा सकता है। भंडारनायके 1960-65,1970-1977 औऱ 1994 से 2000 तक याने 13 साल श्रीलंका की प्रधानमंत्री रही। दुनियां में सर्वाधिक अवधि तक प्रधानमंत्री रहने वाली महिला के रूप में बांग्लादेश की शेख हसीना का नाम आता है । हसीना1996 -2001 और 2009 से लेकर आजतक याने18 साल से वे प्रधानमंत्री है। हिंदुस्तान की महिला इंदिरा गांधी 1966 से1977 और 1980 से1984 तक प्रधानमंत्री रही।वे 16 साल तक प्रधानमंत्री रही।यूनाइटेड किंगडम की मार्ग्रेट थ्रेचर 1979 से 1990 याने 11 साल प्रधानमंत्री रही है।
20 बड़े देश जिनमे महिला प्रधानमंत्री बनी है उनमें - यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, पुर्तगाल, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, नार्वे, पोलैंड,यूक्रेन, फिनलैंड, टर्की, डेनमार्क, रोमानिया, हिंदुस्तान, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, इजरायल, यूगोस्लाविया, कनाडा, और स्लोवेनिया है।
अफ्रीका,सोवियत संघ से टूट कर बने नए देशों सहित वेस्टइंडीज के द्वीप में बने 30 छोटे देशों में महिला प्रधानमंत्री बन चुकी है।ट्रांसवेई, लिथुआनिया, बुरण्डी,रवांडा,हयाती, माल्दोवा, जमैका,आईसलेण्ड, क्रोएशिया, माले, थाईलैंड, सेनेगल, सर्बिया, बारबाडोस, टोबो,सामोआ, पेरू, ट्यूनेशिया जैसे देशों में प्रधानमंत्री महिला रही है।
आज की स्थिति में देखे तो 128 देशों में प्रधानमंत्री पद की व्यवस्था है। इनमें से19 देशो में महिला प्रधानमंत्री है। लीज ट्रस(यूनाइटेड किंगडम), मैटे फेड्रिक्सन( डेनमार्क)सोफी विल्गेस(बेल्जियम) साना मार्टिन( फिनलैंड)हसीना शेख(बांग्लादेश) इरना सेल्बर्ग(नॉर्वे) एना ब्रेम्बिक(सर्बिया) कैथरिन जनकोबाज़तोतिर(आइसलैंड) मिया मोट्ले(बारबाडोस) माइमा सांडू( मोल्दोवा) रोज़ रापोंडा(गाबोंन) विक्टोरि डोगवे(टोगो) इंडिरिगा सिमोंति(लिथुआनिया) काजा क्लास(इसोनिया) फियाये (समोआ) नतालिया(मातसोबा) मिरथा वासेविज़(पेरू) नज़ला बॉउडन( ट्यूनेशिया)(घोषणा होना बाकी है)
यूनाइटेड किंगडम, पोलैंड, फिनलैंड और न्यूजीलैंड 4 ऐसे देश है जिनमे 3 महिलाये प्रधानमंत्री बनी है। न्यूज़ीलैंड की वर्तमान प्रधानमंत्री जेसिंडा एड्रेन दुनियां में सबसे कम उम्र (37 साल) में प्रधानमंत्री बनी है।
रोचक बात
1905 के पहले तक दुनियां में प्रधनमंत्री पद नहीं था। यूनाइटेड किंगडम में 1905 में order of presedence पास हुआ। जिसमें प्रधानमंत्री शब्द का उल्लेख किया गया। हेनरी कैम्पबेल बेनरमेन को यूनाइटेड किंगडम का पहला अधिकृत प्राइममिनिस्टर माना गया। अनधिकृत रूप से1868 में first lord of Treasury के साथ साथ स्वयं को प्राइम मिनिस्टर कहते थे।
1721 में यूनाइटेड किंगडम के रॉबर्ट वालपोल(1721-1742) पहला प्रधानमंत्री माना जाता है।

© 2022 CNIN News Network. All rights reserved. Developed By Inclusion Web