CNIN News Network

भारतीय विकेटकीपर; नवले से लेकर जुरेल तक

02 Mar 2024   76 Views

भारतीय विकेटकीपर; नवले से लेकर जुरेल तक

Share this post with:

 

*  संजय दुबे

25जून1932को भारतीय क्रिकेट टीम इतिहास बनाने उतरी तो देश के पहले विकेटकीपर जनार्दन नवले ने विकेट के पीछे का जिम्मा सम्हाला था । नवले  ने इंग्लैंड के  डगलस  जारडीन को  के गेंद पर आउट किया था।नवले से लेकर ध्रुव जुरेल तक 38विकेटकीपर टेस्ट के लिए चयनित हुए है लेकिन के एल राहुल और ध्रुव जुरेल फिलहाल बल्लेबाज के रूप में शामिल हुए है इसलिए फिलहाल 36विकेटकीपर्स का ही लेखा जोखा है।

आमतौर पर  अधिकांश विकेट कीपर्स बल्लेबाजों और गेंदबाजों के बल्लेबाजी के बीच के कडी होते रहे है। भारत में फारुख इंजीनियर इकलौते विकेटकीपर थे जो ओपनिंग किया करते थे। इतिहास उठाकर देखे तो महेंद्र सिंह धोनी अकेले विकेटकीपर है  जो भारतीय  क्रिकेट टीम के कप्तान बने और 60 टेस्ट में कप्तानी कर27 टेस्ट में भारत को विजय दिलाई। एक विकेटकीपर के रूप  सबसे अधिक 90टेस्ट खेले ।256 कैच पकडे 38 स्टंपिंग किए। एक बल्लेबाज के रूप में  6शतक,33अर्ध शतक की मदद से 4876रन बनाए।धोनी भारत के 36विकेटकीपर्स में अकेले विकेटकीपर है जिन्होंने बल्लेबाज के रूप में  दोहरा शतक (224रन)। बनाए है।

भारत के जिन विकेटकीपर्स ने शतक लगाया है  उनमें बुधि कुदरन (192), फारुख इंजीनियर (131),सैयद किरमानी(102),नयन मोंगिया(152),दीपदास गुप्ता(100),अजय रात्रा (115),दिनेश कार्तिक (129),रिद्धिमान साहा (117), ऋषभ पंत(159*), शामिल है। भारत के 36विकेटकीपर्स में से11के द्वारा 32शतक लगाए गए है।

केवल 11विकेट कीपर ऐसे रहे है जिन्होंने 10से अधिक टेस्ट खेला है। एम एस धोनी (90), सैयद किरमानी (88),किरण मोरे(49), फारुख इंजीनियर (46),नयन मोंगिया (44), रिद्धिमान साहा (40),ऋषभ पंत(30),पार्थिव पटेल (25)नरेंद्र तम्हाणे (21), बुधि कुंदरन(15)खोखन सेन(14)और नाना जोशी(12)टेस्ट खेले है।मेहरहोम जी, विजय राजिंदरनाथ,  चंद्रकांत पाटनकर,विजय यादव, सबा करीम को केवल एक टेस्ट में  विकेटकीपिंग कर पाए है।

विकेटकीपिंग में 100सेअधिक कैच और स्टंप करने वालो में एम एस धोनी ( 256+38),सैयद किरमानी (160+38),ऋषभ पंत (107+11),नयन मोंगिया (99+08),रिद्धिमान साहा (92+12) विकेटकीपर्स रहे है।

            भारत के 36 विकेटकीपर्स  पहला स्टंपिंग दिलावर हुसैन ने इंग्लैंड के बी वेलेंटाइन को स्टंप कर  शुरू किया था। इब्राहिम माका इकलौते विकेटकीपर रहे है जिन्होंने  खेले एक मात्र टेस्ट में 4स्टंपिंग किए लेकिन एक भी कैच नहीं मिला। जनार्दन नवले, दत्ता राम हिंडलेकर, मेहरहोंम जी, मानवा प्रसाद, सबा करीम, विजय दहिया दीपदास गुप्ता, को स्टपिंग का अवसर ही नहीं मिला। स्टंपिंग विकेटकीपर की सबसे बेहतरीन कला मानी जाती है।

भारत के 36विकेटकीपरमें केवल सैयद किरमानी इकलौते विकेटकीपर रहे है जिनके हिस्से में गेंदबाज के रूप में एक विकेट लेने का भी रिकार्ड है। 1983नागपुर टेस्ट में 3.1ओवर में 9रन देकर अजीम हाफिज का विकेट लिया था। 

Share this post with:

POPULAR NEWS

© 2022 CNIN News Network. All rights reserved. Developed By Inclusion Web