अब भाजपा ने की अपने विधायकों की बाड़ेबंदी,मोहाली के रिसार्ट में ठहराया

08 Jun 2022   344 Views


- मतदान से पहले सभी खेमों में खलबली
चंडीगढ़।
हरियाणा में राज्यसभा की 2 सीटों के लिए 10 जून को होने वाले मतदान से पहले सभी खेमों में खलबली सी मची है। कांग्रेस के बाद अब प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार ने भी अपने एमएलए की बाड़ेबंदी कर दी है। बीजेपी और जेजेपी ने अपने सभी विधायकों को मोहाली के सेवन स्टार रिजॉर्ट सुख-विलास में पहुंचा दिया है। यहां बताना जरूरी होगा कि कांग्रेस ने अपने विधायकों को छत्तीसगढ़ के रायपुर के रिसार्ट में ठहराया है।
दोनों पार्टियों के एमएलए बुधवार शाम को रिजॉर्ट पहुंचे। हरियाणा में सरकार को समर्थन देने वाले 6 निर्दलीय विधायक भी साथ हैं। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल,बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़, भाजपा के हरियाणा प्रभारी विनोद तावड़े के अलावा राज्यसभा चुनाव के लिए हाईकमान की ओर से प्रभारी नियुक्त किए गए केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी इन विधायकों के साथ रिजॉर्ट में हैं।
हरियाणा से राज्यसभा की दो सीटों के लिए कुल तीन नामांकन हुए हैं। भाजपा ने कृष्ण लाल पंवार और कांग्रेस ने अजय माकन को उम्मीदवार बनाया है। पूर्व मंत्री विनोद शर्मा के बेटे कार्तिकेय शर्मा जेजेपी के समर्थन से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में उतरे हैं।
इस बीच कांग्रेस की ओर से राज्यसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी अजय माकन की जीत के दावे और 31 से ज्यादा एमएलए के समर्थन के दावे के बाद अब बीजेपी और जेजेपी को निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा के लिए क्रॉस वोटिंग होने की चिंता सता रही है। इसलिए दोनों पार्टियों ने अपने विधायकों को रिजॉर्ट में पहुंचा दिया है। दोनों पार्टियों ने अपने विधायकों को शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल के सुख विलास में ठहराया है।
बीजेपी नेता करेंगे बातचीत--रिजॉर्ट में इन विधायकों से भाजपा नेता गजेंद्र सिंह शेखावत, प्रदेश प्रभारी विनोद तावड़े, सीएम मनोहर लाल, बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़, डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला और जेजेपी प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह बातचीत करेंगे। इन विधायकों को चुनाव प्रकिया की जानकारी देने के साथ-साथ बैलेट पेपर से वोट डालने के तरीके के बारे में भी समझाया जाएगा।
© 2022 CNIN News Network. All rights reserved. Developed By Inclusion Web